आदर्श बस्ती के लोगों ने जिला कलक्टर को बताई अपनी पीड़ा

162

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गंदे पानी की निकासी और पेयजल टंकी बनवाने की मांग

झुंझुनू जिला मुख्यालय के वार्ड नम्बर 12 स्थित आदर्श बस्ती के पीड़ित लोगों ने आज बुधवार को जिला कलक्टर रवि जैन एवं नगर परिषद आयुक्त से मिलकर मांग की हैं कि कॉलोनी में रेल पटरी के पास नगर परिषद द्वारा बनाए गए जल संग्रहण (टांके) का निर्माण कार्य करीब दो साल से चल रहा हैं, लेकिन अभी तक उसके पूर्ण नहीं होने से कॉलोनी के 7-8 घरों के आगे गंदा पानी एकत्रित होने से लोगों को आने जाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जल संग्रहण केन्द्र के पास बंद किए गए नाले को खोला जाए ताकि वह गंदा पानी आगे जा सकें। नालियों का गंदा पानी मकानों की नीव में जाने से मकानों की हालत खराब हो गई है। पूर्व पीआरओ एवं लोकपाल सवाई सिंह मालावत, मूल चंद मीणा, आत्माराम शर्मा, सुभाष चंद्र महावीर मेडतिया, बरकत अली, अशोक कुमार सैन, सुरेन्द्र कुमार तंवर, एस.एस. यादव आदि व्यक्तियों ने जिला कलक्टर को लिखित में ज्ञापन देकर मांग की हैं कि पूर्व में बनाई गई सीमेंट सड़क को ऊंचा उठाया जाए और उसके पास बनाए गए नाले एवं नाली की मिट्टी निकालकर नियमित रूप से सफाई करवाई जाए, और इस बस्ती के वासियों को पीने के पानी के लिए एक उच्च जलाशय बनवाकर कॉलोनी के घरों से उससे जोड़ा जाए। इन्होंने बताया कि वर्तमान में कॉलोनी वासी दो नल कूप से स्वयं के खर्चे से पानी प्राप्त कर रहे हैं, अभी तक इस बस्ती के घरों को ना तो रीको की पेयजट टंकी से जोडा गया हैं, और ना ही शहर की जलदाय योजना से। जिला कलक्टर से आदर्श बस्ती का और बनाए गए टांके का अवलोकन करने का आग्रह भी किया गया है। यह समस्या गत तीन माह से लगातार इसी रूप से चल रही है। कॉलोनी वासियों का कहना हैं कि गंदे पानी की निकासी की व्यवस्था आगामी पांच दिनों में नहीं की गई तो मजबूरन घरना प्रदर्शन और सक्षम न्यायालय में नगर परिषद के खिलाफ परिवाद दायर करना पड़ेगा।

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More