बड़े खिलाड़ियों का डाटाबेस तैयार करें, खेल संघों से उन्हें जोड़ें – संदेश नायक

193

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जिला क्रीड़ा परिषद की बैठक में खेल गतिविधियों के विकास पर मंथन

चूरू, जिला कलक्टर संदेश नायक ने कहा है कि नेशनल-इंटरनेशनल स्तर पर जिले का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों का डाटाबेस तैयार कर उन्हें विभिन्न खेल संघों से उन्हें जोड़ें ताकि नए खिलाड़ियों को उनसे प्रेरणा व मार्गदर्शन मिल सके। जिला कलक्टर मंगलवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला क्रीड़ा परिषद की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से जिले में खूब खेल सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं, उनका भरपूर फायदा युवाओं को मिलना चाहिए। इसके अलावा प्रयास रहे कि कुछ प्राइवेट स्पॉन्सरशिप भी मिले ताकि और ज्यादा संसाधन व अवसर हमारे युवा खिलाड़ियों को मिल सके। उन्होंने खेल संघ प्रतिनिधियों से कहा कि वे शिक्षा विभाग के प्रवेशोत्सव की तर्ज पर विद्यालयों में जाकर टैलेंट तलाश करें और उसे अवसर दें। अभिभावकों को भी मोटीवेट करें कि कैसे खेलों में एक बेहतरीन कैरियर बनाया जा सकता है। एसीईओ डॉ नरेंद्र चौधरी ने कहा कि जिले में खेल प्रतिभाओं की कमी नहीं है, उनको अवसर दिलाने के लिए सभी के सामूहिक प्रयासों की जरूरत है। ईश्वर सिंह लांबा ने खेल संघों से जुड़े तकनीकी पहलुओं पर प्रकाश डाला। द्रोणाचार्य अवार्डी अंतरराष्ट्रीय कोच वीरेंद्र पूनिया ने कहा कि खेल संघ खुद को अधिक मजबूत बनाएं तो प्राइवेट स्पॉन्सरशिप के अधिक अवसर मिल सकेंगे। उन्होंने कहा कि खेल संघ ईमानदारी से जिले के बच्चों को अवसर मुहैया कराएं। उन्होंने खेल गतिविधियों के विकास के लिए जिला कलक्टर संदेश नायक के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में जिले में बेहतर काम हो रहा है। पूूनिया ने ग्रीष्मकालीन छुट्टियों में समर कैंप लगाने की सलाह दी और कहा कि जिला स्तर पर होने वाले ट्रायल और चयन में अधिक युवाओं का अवसर मिलना चाहिए और पारदर्शिता रहनी चाहिए। द्रोणाचार्य अवार्डी अनूप कुमार ने कहा कि खेल सुविधाएं जिला मुख्यालय के अलावा उपखंड मुख्यालयों व ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंचनी चाहिए। क्रिकेट संघ के सुशील शर्मा ने जिला मुख्यालय पर क्रिकेट स्टेडियम की आवश्यकता जताई और कहा कि जमीन उपलब्ध कराए जाने पर उनकी ओर से स्टेडियम डवलप कराया जा सकता है। जिला ओलंंपिक संघ के सचिव ठाकुर मल शर्मा ने कहा कि संघों की ओर से कराई जाने वाली बड़ी प्रतियोगिताओं में आने वाले खिलाड़ियों के लिए रहने की स्टेडियम में निःशुल्क व्यवस्था होनी चाहिए। टेनिस बॉल क्रिकेट संघ के देवेंद्र जोशी ने सुझाव दिया कि यदि क्रीड़ा परिषद से खिलाड़ियों को मिलने वाली राशि समयबद्ध ढंग से प्राप्त हो तो और ज्यादा बेहतर प्रयास हो सकते हैं। सहायक निदेशक (जनसंपर्क) कुमार अजय, महिला हॉकी संघ के लीलाधर चुलेट, जिला ओलंपिक संघ के अध्यक्ष योगेश तिवाड़ी, टेबल टेनिस संघ के राजेश वर्मा, जिला क्रीड़ा परिषद के टेबल टेनिस कोच रमेश पूनिया, तैराकी संघ के सचिव जगराज गौड़, जसवंत पूनिया, नरेश सांगवान, यासीन खां, आकाश शर्मा, नरेश राठौड़, ताईक्वांडो संघ की सुमन राठौड़, मनीष राठौड़, राजेंद्र राजपुरोहित आदि ने महत्त्वपूर्ण सुझाव दिए। बैठक में विभिन्न खेल संघों के प्रतिनिधि, खिलाड़ी व जिला क्रीड़ा परिषद के सदस्य मौजूद रहे।

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More