बहुजन क्रांति मोर्चा ने बलात्कार की घटनाओं के विरोध में दी गिरफ्तारियां

323

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

झुंझुनू जिला मुख्यालय पर जेल भरो आंदोलन के तहत दी गिरफ्तारी

झुंझुनू, बहुजन क्रांति मोर्चा झुंझुनू के तत्वावधान में देश में हो रही नाबालिग बालिकाओं के साथ बलात्कार की घटनाओं के विरोध में देशव्यापी जेल भरो आंदोलन के तहत जिला मुख्यालय पर गिरफ्तारियां दी गई। बहुजन क्रांति मोर्चा के जगदेव सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश के हाथरस सहित देशभर में हो रही बालिकाओं के साथ बलात्कार की घटनाओं के विरोध में एवं शासन- प्रशासन द्वारा इनको बचाने का जो प्रयास किया जा रहा है उसके विरोध में हमने 8 अक्टूबर को यहां पर धरना दिया था। 15 अक्टूबर को हमने रैली निकाली थी इसी के क्रम में हमने जेल भरो आंदोलन किया है। वही बहुजन क्रांति मोर्चा के शीशराम सिलोलिया ने जानकारी देते हुए बताया कि देश के 550 जिलों में आज जेल भरो आंदोलन के तहत गिरफ्तारियां दी जा रही है। 22 अक्टूबर को हमने उत्तर प्रदेश भी बंद किया था। गरीब तबके की नाबालिग बालिकाओं के साथ लगातार देशभर में घटनाएं हो रही हैं इसी के विरोध में हमने जेल भरो आंदोलन के तहत आज गिरफ्तारियां दी हैं। इस अवसर पर मोर्चे के कार्यकर्ताओ द्वारा नारेबाजी कर गिरफ्तारियां दी गई।
वही जिले के सिंघाना थाना अंतर्गत गांव हीरवा के एक निसंतान दंपत्ति ने भी जिला कलेक्ट्रेट के बाहर बहुजन क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ताओं के साथ अपने ऊपर हुए जानलेवा हमले में कार्रवाई की मांग को लेकर गुहार लगाई। इस अवसर पर पीड़ित सुशील कुमार ने बताया कि 8 सितंबर को उसके ताऊ के लड़के व अन्य के द्वारा लाइट काटकर धारदार हथियार से जानलेवा हमला किया गया जिसमे अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। दो बार एसपी और कलेक्टर के सामने भी गुहार लगा चुका हूं। वही पीड़ित की पत्नी सरिता ने बताया कि मेरे पति के ऊपर जानलेवा हमला किया गया था जिसके कारण सिर में 14 टांके आए थे। परिवार के अनेक लोग ही उसके अंदर शामिल थे, हमारे कोई संतान नहीं है और हमारे एक प्लाट एवं 12 बीघा जमीन को हथियाने के लिए हम पर यह जानलेवा हमले किए जा रहे हैं। अभी तक सुनवाई नहीं होने के कारण से आज हम फिर यहां पर आए हैं। इस दौरान पुलिस जाब्ता मुश्तैदी के साथ तैनात रहा।

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.