कोरोना पर ऑनलाईन ओपन लेखन / अभिव्यक्ति (संभाषण कला) प्रतियोगिता

207

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

विद्यार्थियों एवं अभिभावकों की जबरदस्त मांग पर बढ़ाई अंतिम तिथि

अब 18 मई तक प्रेषित कर सकते हैं लेखन या अभिव्यक्ति के वीडियो

झुंझुनू, लॉकडाउन के कारण अपने घरों में विद्यार्थियों के समय का सही सदुपयोग करते हुए प्रतिभा निखारने के उद्द्ेश्य जीवेम समूह एवं झुंझुनूं एके डमी ग्रुप ऑफ स्कूल्स द्वारा लॉकडाउन पर आयोजित की जा रही ऑन लाईन ओपन लेखन / अभिव्यक्ति (संभाषण कला) प्रतियोगिता के लेखन एवं अभिव्यक्ति के विडियो जमा कराने की अंतिम तिथि अब बढ़ाकर 18 मई, 2020 कर दी गई है। जानकारी देते हुए जीवेम एज्युकेशन की सीनियर एडमिनिस्ट्रेटिव कॉ-ऑर्डिनेटर एवं प्रतियोगिता संयोजक आशा दडिय़ा राव ने बताया कि संपूर्ण झुंझुनूं जिले से इस प्रतियोगिता के प्रति विद्यार्थियों ने जबरदस्त उत्साह प्रदर्शित किया है तथा अभी तक उम्मीद से अधिक प्रविष्टियां प्राप्त हो चुकी है। राव ने बताया कि विद्यार्थियों एवं अभिभावकों की जबरदस्त मांग पर अब प्रविष्टियां प्राप्त करने की अंतिम तिथि को बढ़ा दिया गया है। उन्होंनें कहा कि प्रतियोगिता में भाग लेने वाले विद्यार्थी लिखे गए लेख की स्केन्ड ईमेज या अभिव्यक्ति (संभाषण ) के विडियो को अपने नाम, अभिभावक का नाम, वर्तमान कक्षा, वर्तमान स्कूल का नाम एवं मोबाईल नम्बर के साथ 8094015541 पर अब दिनांक 18 मई, 2020 तक प्रेषित कर सकते हैं। राव ने यह भी बताया कि प्रतिभागियों को अपने लेख के अंत में माता-पिता के हस्ताक्षर द्वारा यह प्रमाणित करना होगा कि यह लेख उसका मौलिक लेख है, जिसे उसने स्वयं की हस्तलिपी में लिखा है।  अभिव्यक्ति (संभाषण कला) के अंतर्गत यदि प्रतिभागी चाहे तो अपने विचार ऑडियो या वीडियो में रिकॉर्ड करके दिए गए व्हॉट्स एप्प नम्बर पर मैसेज कर सकते हैं। प्रतियोगिता का आयोजन तीन वर्गों में किया जा रहा है। प्रथम वर्ग कक्षा 3 से लेकर कक्षा 5 तक है जिसका विषय लॉक डाउन के दौरान हमारे खट्टे-मीठे अनुभव रखा गया है। द्वितीय वर्ग कक्षा 6 से लेकर कक्षा 9 तक के विद्यार्थियों के लिए है जिसका विषय प्रकृति के प्रति सम्मान ही कोरोना वायरस जैसी महामारियों से हमें भविष्य में बचाएगा। तृतीय वर्ग कक्षा 10 से लेकर कक्षा 12 तक के विद्यार्थियों के लिए है जिसका विषय लॉकडाउन समाप्ति के बाद हमारी कार्य, संस्कृति व जीवन शैली में कैसे बदलाव होंगे रखा गया है। लेखन की अधिकतम शब्द सीमा अलग अलग वर्ग के अनुसार 500 से 2000 शब्द तथा अभिव्यक्ति (संभाषण कला) हेतु ऑडियो या वीडियो का अधिकतम समय 6 मिनिट रहेगा। प्रतियोगिता में शानदार रेस्पोन्स प्रदर्शित करने के लिए जीवेम चेयरमैन डॉ दिलीप मोदी ने समस्त प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि विद्यार्थियों में लेखन कला एवं अभिव्यक्ति कौशल कला को निखारने के उद्द्ेश्य से आयोजित यह प्रतियोगिता एक सकारात्मक पहल है। डॉ मोदी ने बताया कि प्रत्येक वर्ग में 20 पुरस्कार दिए जाएगें। पुरस्कारों का वितरण लॉकडाउन खुल जाने के पश्चात् एवं परिस्थितियां सामान्य हो जाने के बाद झुंझुनूं में एक भव्य समारोह में किया जाएगा। विजेताओं के सर्वश्रेष्ठ लेख विद्यालय की पत्रिका तथा विद्यालय के फेसबुक पेज पर भी प्रदर्शित किए जाऐंगें। उन्होंनें कहा कि निर्णायक मंडल का निर्णय अंतिम एवं मान्य होगा। निर्णायक मंडल की नियुक्ति जीवेम एज्युकेशन द्वारा ही की जाएगी।

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More