गरीब, किसान, मजदूर का बेटा राजकीय विद्यालय में अध्ययन कर अपने भविष्य का निर्माण करें

291

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

दांतारामगढ़ तहसील के अलोदा गांव में मुख्यमंत्री जन सहभागिता से नवनिर्मित विद्यालय भवन का लोकार्पण

सीकर, शिक्षा, पर्यटन एवं देवस्थान राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि राज्य सरकार का प्रयास है कि गांव का गरीब, किसान, मजदूर का बेटा सरकारी विद्यालयों में अध्ययन कर अपने भविष्य का निर्माण करें। उन्होंने कहा कि सरकार ने एक वर्ष के कार्यकाल में सरकारी शिक्षा को मजबूत करने का कार्य किया है। शिक्षा राज्यमंत्री डोटासरा मंगलवार को दांतारामगढ़ तहसील के अलोदा गांव में मुख्यमंत्री जन सहभागिता से नवनिर्मित विद्यालय भवन का लोकार्पण व 75 लाख रूपये की लागत से बनने वाले भवन के शिलान्यास समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रहे थे । शिक्षा राज्य मंत्री डोटासरा ने कहा कि आज का कार्यक्रम बहुत ही महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। चौधरी नारायण सिंह जो मेरे राजनैतिक गुरू है, उनके आशिर्वाद और उनके सानिध्य में आज हमें कार्यक्रम करने का मौका मिला है। प्रदेश के विद्यालयों में भौतिक संसाधन उपलब्ध करवाने के लिए 1581 करोड़ रूपये की निविदा अभी जारी की है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 1200 विद्यालयों की क्रमोन्नति की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पहले बजट में घोषणा की है। प्रदेश में इंग्लिश मीड़ियम के स्कूल भी खुल रहे है। सरकारी स्कूलों में नामांकन बढ़ रहा है तथा अध्यापकों की भर्ती हो रही है और नये जो रीट का एग्जाम है सरकार उसकी भी तैयारी कर रही है। सरकारी स्कूलों के प्रति जो जुड़ाव व बाल सभाओं में देखने को मिल रहा है और लोग अपने बच्चों को राजकीय विद्यालय में प्रवेश दिला रहें हैं। पूरे देश में राजस्थान दूसरे नम्बर पर गुणवत्ता शिक्षा में आया है। हमारा संकल्प है की हम सभी मिलकर गरीब को गणेश मानकर काम करें। गरीब का बच्चा भी हमारी सरकारी स्कूल में अच्छी शिक्षा प्राप्त करें और आने वाले समय में हमारा प्रदेश गुणवत्ता शिक्षा में नम्बर वन बने, इस सपने के साथ काम कर रहेे है। उन्होंने घोषणा की की राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय अलोदा में कृषि विषय और इतिहास विषय ये दोनो आगामी सत्र से खोल दिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि आगे भी दांतारामगढ़ क्षेत्र में विद्यालयों की क्रमोन्नति, विकास की बात आएगी तो दांतारामगढ़ के लोग और क्षेत्रीय विधायक चाहेंगे वो हम सभी काम करेंगे। शिक्षा राज्यमंत्री डोटासरा ने कहा कि दांतारामगढ़ क्षेत्र में विद्यालयों में भौतिक संसाधन उपलब्ध करवाने के लिए 7 करोड़ रूपये की राशि स्वीकृत की गई है। उन्होंने कहा कि दांतारामगढ़ क्षेत्र में विद्यालयों की क्रमोन्नति, अध्यापकों के रिक्त पदों को भरने, खेल मैदान निर्माण सहित अन्य कार्यों के लिए कोई कोर कसर नहीं रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति जनता की सच्चे मन से सेवा करता है जनता उसे मान-सम्मान देती है। उन्होंने विद्यालय के विकास में योगदान देने वाले भामाशाहों को साधुवाद दिया कि उन्होंने अपनी गाढ़ी कमाई से विद्यालय को आर्थिक सहयोग प्रदान करने में अपना योगदान दिया है। विशिष्ट अतिथि दांतारामगढ़ क्षेत्र के विधायक वीरेन्द्र सिंह ने कार्यक्रम में कहा कि दांतारामगढ़ क्षेत्र में विद्यालयों में समग्र शिक्षा अभियान योजना में पैसा स्वीकृत किया गया है, जीणवास के विद्यालय को क्रमोन्नत करवाने के साथ ही मोहनपुरा में सैनिक एकेडमी खुली है जिससे क्षेत्र के युवाओं को सैन्य भर्ती प्रशिक्षण की सुविधा मिल सकेगी। दांतारामगढ़ क्षेत्र में विद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों पर नियुक्ति की गई है।
कार्यक्रम में पिपराली प्रधान संतोष वर्मा, दांतारामगढ़ के पूर्व प्रधान भंवर लाल वर्मा, उप प्रधान कजोड़मल रैगर, पीएस जाट, उपखण्ड अधिकारी दांतारामगढ़ अशोक रणवां, बीडीओ दुर्गा ढ़ाका, सीडीईओ सुरेन्द्र सिंह गौड़, डीईओ मुकेश मेहता, सरपंच संजू देवी पूनियां, जिला परिषद सदस्य रामदेव सिंह खोखर, प्रधानाचार्या गायत्री सबल, रामदेव सिंह बिजारणियां, भोपाल सिंह एडवोकेट, नीजी शिक्षण संस्थान अध्यक्ष बी.एल.रणवां, जनप्रतिनिधि, महिला-पुरूष विद्यार्थी ग्रामीणजन बड़ी संख्या में उपस्थित रहें।

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More