गुढ़ा गौड़जी में किसान रामेश्वर की मौत को लेकर धरना जारी

459

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

कचोलिया जोहड़ भोड़की में कल करंट लगने से हुई थी मौत

गुढ़ा गौड़जी [संदीप चौधरी ] गुढ़ा गौड़जी के निकटवर्ती गांव कचोलिया जोहड़ भोड़की में शुक्रवार शाम को 11केवी करंट लगने से एक किसान की मौत हो गई थी गुढ़ा गोडजी पुलिस को इत्तला मिलने पर पुलिस पहुंची। मौके पर इसमें हेड कांस्टेबल सुरेश, कुलदीप, चालक दिनेश कुमार सरकारी गाड़ी सहित पहुंचे। मौके पर हेड कांस्टेबल सुरेश ने बताया कि भोडकी निवासी रामेश्वर लाल मेघवाल अपने खेत में काम कर रहा था अचानक 11 केवी लाइन का तार टूट कर गिर गया जिससे जमीन में करंट फैल गया करंट लगने से किसान रामेश्वर लाल की मौके पर ही मौत हो गई। मृतक के शव को गुढ़ा गोड़जी राजकीय अस्पताल में रखवाया गया पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है। मौके पर विद्युत विभाग के एईएन जेईएन सहित विभागीय कर्मचारी भी पहुंचे थे। मृतक रामेश्वर लाल 2005 में भोड़की गांव का उपसरपंच भी रह चुका है। विद्युत विभाग की लापरवाही से कृषि कार्य कर रहे मृतक किसान को उचित मुआवजा दिलवाने व आश्रितों को नौकरी दिलवाने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने धरना रखा जारी। मौके पर मौजूद प्रशासनिक अधिकारी हवा सिंह यादव को ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में बताया गया कि दिनांक 16 अगस्त 2019 को समय 4:30 बजे भोडकी निवासी रामेश्वर लाल मेघवाल की अचानक 11 केवी की लाइन का तार टूट कर उनके ऊपर गिर गया जिससे उनके अकाल मृत्यु हो गई, उपचार के संदर्भ में विभागीय कर्मचारियों को अनेकों बार टेलीफोन व शिकायत पत्र के माध्यम से विद्युत विभाग के कर्मचारियों व अधिकारियों को अनेकों बार अवगत कराया गया था। किसान रामेश्वर लाल की डेड बॉडी को गुढ़ा गोडजी राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखा गया। मृतक के परिजनों ने कुछ मांगे रखी जैसे मृतक के परिवार को 2500000 लाख का मुआवजा दिया जाए, मृतक परिवार के वयस्क सदस्य को सरकारी नौकरी, मृतक किसान का संपूर्ण कर्ज माफ किया जावे, विद्युत विभाग के लापरवाही कर्मचारियों को निलंबित करते हुए उनके विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज किया जावे। साथ ही विद्युत विभाग द्वारा द्वेष भावना पूर्वक आमजन के वी. सी. आर भरे जा रहे हैं शिकायतों के निस्तारण के लिए खुलेआम पेसों की मांग की जाती है उनकी जांच एसीबी से करवाई जावे। धरने में दिनभर लोगों की भीड़ वहां देखने को मिली। पुलिस प्रशासन व प्रशासनिक अधिकारी रहे धरना स्थल पर मौजूद। प्रशासनिक अधिकारियों में उदयपुरवाटी सीआई भगवान सहाय मीणा, उदयपुरवाटी एसडीएम हवा सिंह यादव, उदयपुरवाटी तहसील दार, गुढ़ा गोडजी थाने से ए एस आई रोहताश ताखर इत्यादि। धरने को संबोधित करते हुए पूर्व जिला प्रमुख विद्याधर गिल ने बताया कि बिजली विभाग समय पर ध्यान देता तो हादसा नहीं होता अब अगर मृतक के परिजनों की मांग सरकार नहीं मानती है तो आंदोलन उग्र हो सकता है। धरने पर मीन सेना प्रमुख सुरेश मीणा, पंचायत समिति सदस्य जयंत मूड, भोड़की सरपंच नरेश मीणा, टोडी सरपंच प्रतिनिधि ख्याली राम मेघवाल, भोड़की पूर्व सरपंच किशोर मेघवाल, पंकज धनखड़ ,राजेश गढ़वाल कूड़ा राम जाखड़ और कस्बे के गणमान्य लोग उपस्थित रहे। लोगो की उग्र रूप देखकर उदयपुरवाटी एसडीम हवा सिंह यादव ने कहा कि मृतक के परिजनों को 500000 बिजली विभाग की तरफ से दिया जाए, 200000 कृषि उपज मंडी की तरफ से, 100000 मुख्यमंत्री सहायता कोष योजना की तरफ से और 50000 एसडीएम ने अपनी तरफ से,15000 रु बिजली बोर्ड को प्लेंटी भरने के एवज में परिजनों को दिया जाने की बात कही। खबर छपने तक प्रशासनिक अधिकारियों और परिजनों के बीच आपसी समझौता नहीं होने के कारण धरना जारी रहा।

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More