खदान के बरसाती पानी में डूबे युवको में से एक का शव निकाला बाहर

234

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

डूंगर घाटी के पास स्थित डूंगरमल सिंघी की खदान में

सुजानगढ़, निकटवर्ती डूंगर घाटी के पास स्थित डूंगरमल सिंघी की खदान में भरे बरसाती पानी में डूबने से चारों युवकों की मौत हो गई है। सोमवार की शाम तक केवल एक युवक नरेंद्रसिंह के शव को बाहर निकाला गया था। वहीं देर रात को एसडीआरएफ की टीम बीकानेर से आई और प्लाटून कमांडर वसीम अहमद की देखरेख में तालाब से शवों को निकालने का कार्य शुरू किया। बोट लेकर एसडीआरएफ के जवानों ने गोते लगाते हुए जब युवकों को ढूंढऩे का कार्य शुरू किया तो रात करीब पौने ग्यारह गजेंद्रसिंह का शव मिला। उसके बाद फिर से जवानों ने काम शुरू किया और करीब सवा घंटे की मशक्कत के बाद रात बारह बजे तीसरे युवक हिम्मतसिंह के शव को बरामद किया गया। उसके बाद भी चौथे युवक की तलाश टीम ने जारी रखी लेकिन करीब डेढ़ घंटे तक सर्च अभियान चलाने के बाद भी कोई सफलता नहीं मिली तो 1 बजकर 30 मिनट पर सर्च ऑपरेशन बंद कर दिया गया। रात करीब दो बजे उपखंड अधिकारी रतन कुमार, एएसपी सीताराम माहिच, प्रधान गणेश ढ़ाका, आयुक्त बसंत कुमार, सरपंच सविता राठी, देहात कांग्रेस अध्यक्ष विद्याधर बेनीवाल, डीएसपी नरेंद्र शर्मा आदि मौके से रवाना हुए। वहीं सुबह सात बजे से पहले ही बुधवार को सारे लोग मौके पर पहुंच गये। एसडीआरएफ की टीम ने साढ़े आठ बजे फिर से सर्च ऑपरेशन शुरू किया तो पौने नौ बजे से पहले ही महावीरसिंह के शव को बाहर निकाल लिया गया। प्रशासन ने चारों शवों के निकलते ही राहत की सांस ली। वहीं देर शाम को डूंगर घाटी के श्मशान घाट में चारो युवकों का गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया गया।
खदान मालिक के खिलाफ हुआ मुकदमा- हरीसिंह की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने खदान के मालिक डूंगरमल सिंघी, खनन विभाग के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। हरीसिंह ने पुलिस को बताया है कि आबादी क्षेत्र से मात्र 50 मीटर की दूरी पर डूंगरमल सिंघी पुत्र विजयसिंह निवासी बीदासर की खदान स्थित है। जो कि खनन विभाग की मिलीभगत से बिना किसी प्रकार की सुरक्षा व्यवस्था के यह खदान चल रही है, जिसकी ना तो चार दीवारी है और न ही दीवार है। हरीसिंह का कहना है कि सोमवार को दोपहर में करीब बारह बजे चारों युवक गजेंद्रसिंह, हिम्मतसिंह, महावीरसिंह, नरेंद्रसिंह बकरियां चराने के लिए खेत में गये। रास्ते में अतिवृष्टि और तेज पानी के बहाव के कारण खनन क्षेत्र में बह गये। डूंगरमल सिंघी की खदान पर किसी प्रकार की दीवार या सुरक्षा न होने के कारण वहां भरे करीब तीस फुट गहरे पानी में डूब जाने से चारों युवकों की मौत हो गई। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More