किशोरपुरा की बेटी शिवांगी मीणा के जन्मोत्सव पर अनूठी पहल

283

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

साधू-महात्माओं ने दिया बेटी बचाओ का संदेश

गुढ़ा गौड़जी (संदीप चौधरी) बहुत सारे सामाजिक नेता समाज को बदलना चाहते है पर इसकी असल शुरुआत अपने घर से करना ही सार्थक सीद्ध होती है। ऐसी ही एक अनुकरणीय पहल किशोरपुरा गांव के सुधीर मीणा के परिवार में हुई , पहली बार जन्मी बेटी शिवांगी के जन्मोत्सव का, सरकार द्वारा चलाये जा रहे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ को कारगर करने के लिए बुधवार को माता ज्योति मीणा, पिता सुधीर मीणा ने अपनी पुत्री शिवांगी का पहला जन्मदिन खूब ठाट-बाट से मनाया। इस भव्य समारोह में लड़का और लड़की के भेद को खत्म करने का संदेश देते हुए संत महात्माओं ने भी खुशियां मनाई। श्रवण मास में हुए इस अनूठे कार्यक्रम में गाजे-बाजे के साथ महिला एवं पुरुषो ने जमकर खुशियां मनाई। इस अवसर पर कन्याओ को भोजन करवाया, लोगों को मिठाइयाँ बांटी व अन्य सारी रस्मे निभाई। गौरतलब है कि परिवार के जिम्मेदार सुरेश मीणा किशोरपुरा में वर्षो से समाज सुधार के ऐसे पुनित कार्य करते आए है।
उन्होंने बताया कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ , हर घर में शौचालय, समग्र स्वच्छता अभियान, पेड़-पौधे व जल सरंक्षण गरीब पिछड़ो व आदिवासियों को विकास की मुख्य धारा में लाने के लिए यह कार्य करने का जिम्मा हर व्यक्ति को लेना चाहिए, पिता महावीर प्रसाद मीणा एवं माता बिमला मीणा पूर्व सरपंच का कहना है कि बेटी अभिशाप नही वरदान है , बेटी है अनमोल रत्न, इसे बचाने का करो जतन इस अवसर पर शिवपुरी जयरामदास महाराज (पांचवा) कुचामन सिटी, भोलेदास महाराज, जगदिशानंद महाराज , पपु सिंह, पंकज मीणा, कैप्टन चौथमल योगी, अशोक मीणा भराला, राजेन्द्र सिंह शेखावत, धनराज मीणा सिंघाना, मुकेश शर्मा, अजय मीणा सिंघाना, ओमप्रकाश मीणा, सुंडाराम, लोकेश मीणा अजाड़ी कलां, जुगल भड़ाना, श्रीमती संगीता, उमराव गुर्जर, रामसिंह मणकसास, विक्रम मीणा, सहित बड़ी संख्या में महिला पुरुष मौजूद रहे।

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More