प्रिंस एजुकेशन हब में बच्चों व शिक्षकों को किया जागरूक

182

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

मीजल्स रूबैला टीकाकरण अभियान को लेकर

सीकर, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से 22 जुलाई से शुरू किए जाने वाले मीजल्स रूबैला टीकाकरण अभियान को लेकर बुधवार को सीकर शहर में प्रिंस एजुकेशन हब में बच्चों व शिक्षकों को जागरूक किया। विभाग की ओर से लक्षित वर्ग 9 माह से 15 साल तक के करीब पांच हजार बच्चों तथा शिक्षकों का आमुखीकरण किया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजय चौधरी ने बताया कि संस्थान के निदेशक जोगेन्द्र सुण्डा व डॉ पियुष सुण्डा के सहयोग से पिपराली बीसीएमओ डॉ उमेश धायल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिपराली के प्रभारी अधिकारी डॉ अमित शर्मा, विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डॉ अमय वर्मा, दक्षता मेंटर डॉ सावित्री भामू, ओमप्रकाश चाहर, जिला आईईसी समन्वयक कमल गहलोत ने संस्था के मैनेजिंग डॉयरेक्टर रमाकांत स्वामी व शिक्षकों को एमआर टीकाकरण अभियान की जानकारी दी। इसके बाद स्कूल में सुबह की प्रार्थना के समय करीब 5 हजार से अधिक बच्चों का आमुखीकरण किया गया। इस मौके पर विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डॉ अमय वर्मा ने बताया कि एमआर का टीका बेहद सुरक्षित है और इससे खसरा व रूबैला वायरस से होने वाले रोगों से मुक्ति मिलती है। विभाग की ओर से यह टीका 9 माह से 15 साल तक के बच्चों को नि:शुल्क लगाया जाएगा। उन्होंने बताया कि मीजल्स और रूबैला के कारण भारत में प्रति वर्ष करीब 50 हजार बच्चों की मौत हो जाती हैं। इसको रोकने के लिए सरकार की ओर से यह अभियान चलाया गया है। इसके तहत मीजल्स और रूबैला के वायरस से लडने की क्षमता का विकास करने के लिए बच्चों को यह टीका लगाया जाएगा। जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ निर्मल सिंह ने बताया कि विभाग की ओर से अभियान के तहत 9 माह से 15 साल तक के बच्चों को लगाया जाएगा। प्रथम चरण में यह टीका सभी सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में पढने वाले बच्चों को लगाया जाएगा। इसके बाद यह टीका आंगनबाडी केंद्रों पर लगाया जाएगा। वहीं वंचित बच्चों का टीकाकरण करने के लिए विभाग की ओर से आउटरिच कैम्प, मोबाइल टीम द्वारा टीका लगाया जाएगा।
अभियान में सक्रिय भागीदारी की ली शपथ इस दौरान पिपराली बीसीएमओं डॉ उमेश धायल व सीएचसी प्रभारी अधिकारी डॉ अमित शर्मा ने बच्चों व शिक्षकों को अभियान की जानकारी देते हुए आस पडौस में रहने वाले बच्चों व आमजन को भी अभियान की जानकारी देने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने बताया कि अभियान के तहत लक्षित समूह के शत प्रतिशत बच्चों को एमआर का टीका लगाया जाएगा। इस दौरान संस्थान के शिक्षक व बच्चे को अभियान के तहत सक्रिय भागीदारी निभाने तथा आमजन को जागरूक करने की शपथ भी दिलाई गई।

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More