सोशल मीडिया पर भडक़ाऊ कमेंट करने पर फैला रोष

1,008

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

दो समुदाय के युवाओं के बीच हुई मारपीट

खेतडी, प्रतिदिन मिलने वाले डेड जीबी फ्री डेटा की वजह से आजकल का युवा सोशल मीडिया पर अत्यधिक एक्टिव दिखाई देता है इसके कारण सोशल मीडिया पर युवा आपस में गलत कमेंट करने से भी नहीं कतराते हैं और कभी-कभी यह कमेंट समाज में झगड़े का कारण भी बन जाता है। ऐसा ही मामला खेतड़ी उपखंड के बबाई ग्राम का सामने आया है जिसमें फेसबुक और व्हाट्सएप पर दो समुदायों के युवाओं के आपस में गलत कमेंट की वजह से बड़ी घटना के रूप में बदल गया नौबत यहां तक आ पहुंची की रविवार का पूरा दिन पुलिस और प्रशासन का समझाइश करने में निकल गया। सर्व समाज के सेना के प्रदेश अध्यक्ष शंकर सिंह सेफरागुवार, हिंदू सेना के तहसील अध्यक्ष घनश्याम सिंह, राजपूत युवा महासभा के अमित सिंह उसरिया के नेतृत्व में दिन भर सैकड़ों युवाओं ने बबाई चौकी के आगे धरना दिया वही पांच थानों का पुलिस जाब्ता इस मामले को लेकर मौके पर तैनात रहा। पूरे मामले की अधिक बात की जाए तो दोनों पक्षों ने आपस में क्रॉस मामले दर्ज करवाए हैं बबाई के विजेंद्र कुमार तिवारी ने रिपोर्ट दर्ज करवाई कि उसका भाई आशीष व विकास मेहमानों को छोडऩे के लिए रात्रि को बबाई के बस स्टैंड पर गए थे रास्ते में आते समय सेठ वाले बालाजी मंदिर के पास एक समुदाय विशेष के शाहरुख, साहिल, डैनी, गुड्डी, अख्तर तथा 10 से 15 लडक़ों ने मिलकर मेरे दोनों भाइयों को मारा तथा कहा कि हमारे खिलाफ फेसबुक और व्हाट्सएप गु्रप पर कमेंट किया तो यही अंजाम होगा। साथ ही 1 वर्ष पूर्व वसीम नाम के एक लडक़े ने मेरे फेसबुक पर समाज के खिलाफ गलत कमेंट डाले थे उन्होंने फेसबुक तथा व्हाट्सएप पर एक सुल्तान नाम का गु्रप बना रखा है। इस गु्रप के बल पर आए दिन सोशल मीडिया पर गलत कमेंट करना तथा झगड़ा करने पर उतारू रहते हैं। वहीं दूसरे पक्ष के मोइनुद्दीन ने रिपोर्ट दर्ज करवाई कि 12 जुलाई को मेरे फेसबुक पर व्हाट्सएप पर आशीष तिवारी ने मैसेज जारी किया कि अगर अमरनाथ यात्रा में कोई घटना हुई तो हम अजमेर दरगाह जहनुम में देखेंगे। इस मैसेज के चलते जब शाहरुख साहिल मनीष ने आशीष तिवारी व उसके साथी लडक़ों को पूछा तो आशीष मनीष पवन कमलेश कालू विकास आदि ने सांप्रदायिक माहौल बिगाडऩे के लिए भीड़ इक_ा करके बाजार बंद करवा दिया। इस मामले को बढ़ता देख कर डीएसपी मोहम्मद अयूब , थाना अधिकारी शीशराम मीणा, तहसीलदार बंशीधर योगी, खेतड़ी नगर थाना अधिकारी किरण यादव, बुहाना थाना अधिकारी देवेंद्र प्रताप सिंह, पचेरी कला थाना अधिकारी भरत लाल मीणा मय जाब्ते के बाबई चौकी पहुंचे और आक्रोशित भीड़ को समझाइश कर नियंत्रित किया। इसी दौरान शंकर सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों युवाओं ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की तथा न्याय करने की मांग की। इस घटना को देखते हुए पूर्व विधायक हजारीलाल गुर्जर, सुरेंद्र फौजी , रजत शर्मा, चिंटू सुरोलिया, गौतम कुमार सहित कई लोग मौके पर पहुंचे और मामले की समझाइश की। कम उम्र में युवाओं के लिए स्मार्टफोन का अत्यधिक उपयोग करना समाज के लिए घातक होता जा रहा है बबाई की इस घटना में पुलिस ने दोनों तरफ के 6 युवाओं को हिरासत में लिया है जिसमें से तीन नाबालिग है तथा 2 की उम्र 18 वर्ष की है सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक बातों को लेकर आपस में कमेंट करना कम उम्र में जानकारी के अभाव में समाज के प्रति आक्रोशित भाषाओं का प्रयोग करना एक बड़ा अभिशाप बनता जा रहा है ऐसे में समाज के विभिन्न संगठनों तथा अभिभावकों को सामने आकर इस पर रोक लगानी चाहिए। सर्व समाज की ओर से अन्ना हजारे टीम के सदस्य शंकर सिंह घनश्याम सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों युवाओं ने प्रशासन को निष्पक्ष जांच करते हुए 72 घंटे का समय दिया और दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की अन्यथा खेतड़ी थाने का घेराव करने की चेतावनी दी। बबाई चौकी के सामने बैठे युवाओं ने तुरंत प्रभाव से एफ आई आर दर्ज करने की मांग की तो 5 सदस्य की कोर कमेटी गठित कर युवा कैथोलिक थाने में पहुंचे और एफ आई आर दर्ज करवाई उसके बाद तहसीलदार वंशीधर योगी की समझाइश पर धरना समाप्त किया गया।

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More