झुंझुनूताजा खबर

तेतरवाल ने की झुंझुनू से मंडावा 35 किलोमीटर साइकिल यात्रा

Avertisement

पर्यावरण शुद्धता,पशु प्रेम व स्वस्थ रहने का दिया संदेश

झुंझुनू, विश्व पर्यावरण दिवस पर लोगों को जागरूक करने के लिए पूर्व अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी कमलेश कुमार तेतरवाल ने रविवार सुबह तेतरवाल भवन झुंझुनू से तेतरवाल भवन मंडावा तक पैंतीस किलोमीटर की साइकिल यात्रा पूरी की। मंडावा पहुंचकर कामधेनु निराश्रित गौशाला में गायों को गुड़ खिलाकर पशु प्रेम का संदेश दिया वही बिजारणिया भवन में पौधा भेंट करते हुए वृक्ष लगाने के लिए प्रेरित किया। मंडावा पहुंचने पर कामधेनु निराश्रित गौशाला में व्यवस्थापक रविन्द्र शर्मा के नेतृत्व में गौसेवकों ने,सुभाष चौक पर पंकज शर्मा,भंवरलाल धाबाई ने,बिसाऊ चौराहे पर सुमित्रा बिजारणिया,नेहा बिजारणिया,सुनील टिबड़ेवाल,दीपक महाजन,श्रीचंद पुनिया,पवन जोशी ने,मिठारवाल भवन में सुभाष मिठारवाल,सजना मिठारवाल,अंजू खेमचंद धीरज ने,जाखड़ होटल पर विजयपाल तेतरवाल,पारस,प्रिया झाझड़िया,मोहनलाल जाखड़,ओम मिस्त्री,प्रकाश मिस्त्री ने तेतरवाल का इस प्रेरक प्रयास के लिए स्वागत किया। इस अवसर पर तेतरवाल ने बताया कि आज के युग में वाहनों की बढ़ती संख्या को देखते हुए लोगों को यथासंभव छोटी छोटी यात्राएं गाड़ियों की बजाय साइकिल से करनी चाहिए जिससे न केवल वातावरण में जहरीली गैस बढ़ने से बचाव होगा अपितु स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। उन्होंने कहा कि निराश्रित व आवारा पशुओं की सेवा करना भी एक बहुत ही पुण्य का कार्य है इससे आमजन को होने वाली परेशानीयों से बचाया जा सकता है तथा इन मूक प्राणियों की सेवा भी हो जाती है। इस अवसर पर उन्होंने लोगों से ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने की भी अपील की। अंत में उन्होंने तेतरवाल भवन में अपनी पिचासी वर्षीय वृद्ध माता जी से आशीर्वाद प्राप्त किया।

Related Articles

Back to top button