चुरूताजा खबर

कार्य योजना तैयार कर बजट घोषणाओं के क्रियान्वयन के लिए करें काम – सिहाग

Avertisement

जिला कलक्टर ने वीसी के माध्यम से अधिकारियों को बजट घोषणाओं की क्रियान्विति को लेकर दिए निर्देश

चूरू, बजट में जिले के लिए हुई घोषणाओं के लिए क्रियान्विति के निर्देश देते हुए जिला कलक्टर सिद्धार्थ सिहाग ने जिले के समस्त उपखण्ड अधिकारियों एवं जिला स्तरीय अधिकारियों से कहा है कि वे अपने क्षेत्र में होने वाले कार्यों के प्रस्ताव शीघ्र तैयार कर भिजवाएं। प्रमुख घोषणाओं पर काम करते हुए कार्य योजना तैयार करें, ताकि शीघ्र क्रियान्विति हो सके। जिला कलक्टर गुरुवार को जनसेवा केंद्र में वीसी के माध्यम से बजट घोषणाओं की क्रियान्विति के सम्बन्ध में अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने विभिन्न बजट घोषणाओं पर चर्चा करते हुए संबंधित अधिकारियों से कहा कि इनके समयबद्ध क्रियान्वयन के लिए आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करें। जिला कलक्टर सिहाग ने जिले में सावित्री बाई फुले वाचनालय एवं डिजिटल लाइब्रेरी, मत्स्य अधिकारी कार्यालय एवं प्रयोगशाला, लव-कुश वाटिका, मिनी फूड पार्क, राजगढ़ में एथलेटिक्स एकेडमी, तारानगर में कृषि महाविद्यालय, सरदारशहर में खेल स्टेडियम, राजलदेसर को तहसील, जैतासर में अनूसूचित जाति छात्रावास, चूरू में अल्पसंख्यक छात्रावास, सातड़ा में सहायक अभियंता कार्यालय सहित चिकित्सा, शिक्षा, सड़क परिवहन, औधोगिक विकास सहित मूलभूत सुविधाओं के संबंधित समस्त बजट घोषणाओं में भूमि आवंटन, संसाधन उपलब्धता सहित आवश्यक कार्यवाही कर त्वरित क्रियान्वयन के निर्देश दिए।

जिला कलक्टर ने इस दौरान मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना में ईडब्ल्यूएस वर्ग को जोड़े जाने से शत-प्रतिशत नामांकन, इंदिरा शहरी क्रेडिट कार्ड योजना, इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना, मुख्यमंत्री ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना सहित विभिन्न फ्लैगशिप योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट प्राप्त करते हुए तेजी से क्रियान्वयन के निर्देश दिए।

इस दौरान सिहाग ने अधिकारियों को फसल कटाई, फसल बीमा, आंगनबाड़ी केंद्रों के विद्युतीकरण एवं सौंदर्यकरण, इंदिरा रसोई, मनरेगा एवं शहरी रोजगार गारंटी योजना में लंबित भुगतान, टॉयलेट निर्माण, गीलाएवं सूखा कचरा प्रबंधन, आधार एवं जनाधार लिंकेज, पेंशन वेरिफिकेशन, खाद्य सुरक्षा प्रकरणों, स्कूलों में स्मार्ट क्लासरूम, कम्प्यूटर लैब, इंटरनेट, बिजली कनेक्शन एवं खेल मैदान की सुविधाओं, प्रशासन गाँवों के संग अभियान एवं प्रशासन शहरों के संग अभियान में पट्टों के लंबित प्रकरणों के निस्तारण एवं समुचित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। सीईओ पीआर मीणा ने विकास अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि 100 दिवस का रोजगार पूर्ण करने वाले श्रमिकों को 25 दिवस का अतिरिक्त रोजगार मुहैया करवाया जा सके, इस दिशा में काम श्रमिकों से 100 दिवस का रोजगार पूर्ण करने के लिए काम करें।

इस दौरान एडीएम लोकेश गौतम, कोषाधिकारी रामधन, जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) निसार अहमद खान, डीओआईटी संयुक्त निदेशक मनोज गरवा, उद्योग महाप्रंबंधक नानूराम गहनोलिया, डिस्कॉम एसई वी आई परिहार, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक अरविंद ओला, महिला अधिकारिता विभाग के संजय महला, जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक) संतोष महर्षि, सीडीईओ जगवीर सिंह यादव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button