झुंझुनूताजा खबर

किशोरपुरा रोड़ से भैरूंजी मंदिर तक निर्माणाधीन सड़क में घटिया निर्माण सामग्री लगाने का आरोप

Avertisement

मंत्री गुढा और उच्च अधिकारियों से दूरभाष पर बात कर सड़क दोबारा बनवाने की सुरेश मीणा सहित कई जनप्रतिनिधियों ने उठाई मांग

दूसरे दिन पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की वार्ता के बाद मामला निपटा

उदयपुरवाटी, [कैलाश बबेरवाल ] विधानसभा क्षेत्र के किशोरपुरा मोरिंडा रोड़ से भैरुंजी मंदिर तक बनने वाली निर्माणाधीन सड़क में ग्रामीणों ने ठेकेदार पर घटिया सामग्री लगाने का आरोप लगाया है। सड़क निर्माण की लीपापोती की सूचना मिलने के बाद गांव के आदिवासी मीणा सेवा संघ के प्रदेश प्रधान सुरेश मीणा किशोरपुरा मौके पर पहुंचकर सड़क का जायजा लिया। लापरवाही सामने आने पर मीणा ने मौके पर ही मंत्री राजेंद्र सिंह गुढा को दूरभाष पर मामले से अवगत करवाया। इसके बाद मंत्री गुढा ने पीडब्ल्यूडी विभाग के उच्चाधिकारियों को फटकार लगाई। इसके बाद सड़क पर बैठे ग्रामीणों के पास मौके पर पीडब्ल्यूडी एईएन प्रणव वर्मा सहित पीडब्ल्यूडी के अन्य कर्मचारी पहुंचे। इसके बाद सुरेश मीणा किशोरपुरा, सरपंच मोहनलाल सैनी, शिम्भू दयाल सैनी, मोहनलाल सैनी सहित ग्रामीणो एवं पीडब्ल्यूडी अधिकारियों के साथ आपसी सहमति बनी। जिस पर जनप्रतिनिधियों ने सड़क मार्ग को दोबारा से मजबूती से बनाने की मांग की। विभाग के एईएन प्रणव वर्मा का कहना है कि मैंने हाथों हाथ सड़क मार्ग पर दो बड़े डंपर डामर के मंगवाकर सड़क को पूर्णतया मजबूत बना दिया है।

सुरेश मीणा ने कहा कि भैरुंजी का स्थान काफी गांवों के लोगों की आस्था का केंद्र है। यहां पर हमने बड़ी मुश्किल से मंत्री गुढा से निवेदन कर लगभग 28 लाख रुपए की लागत से सड़क मंजूर करवाई थी। जिसके बाद यह काम शुरू हुआ। किशोरपुरा ग्राम पंचायत के किसी भी विकास कार्य में कोताही बरतने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। विकास कार्यों के मामले में हमेशा हम सब लोग एक साथ मिलकर कार्य करवाएंगे। शंभू दयाल सैनी का कहना है कि हमारी आपसी सहमति से सड़क पर दोबारा डामर डलवाई जा रही है। अब मामला निपट गया है। इस दौरान शीशराम ठेकेदार, शंभू दयाल पंच, महेश सैनी किशोरपुरा, लीलाराम खटाना, कृष्ण सेन, गोविंद सेन, नवल सेन, शीशराम खटाना, जीतू सैनी, जीना राम सैनी, सुरेश सैनी, महिपाल कुमावत, कैलाश मीणा सहित ग्रामीण मौजूद रहे थे।

Related Articles

Back to top button