ताजा खबरपरेशानीसीकर

लक्ष्मणगढ़ कस्बे में सीवरेज ठेकेदार की मनमर्जी से गहराया पेयजल संकट

Avertisement

जिले के लक्ष्मणगढ़ कस्बे में सीवरेज ठेकेदार द्वारा तोड़े गये पानी के कनेक्शनो को पांच दिन बीत जाने पर भी नही जोडऩे से मौहल्लेवासी पानी के मोहताज हो गये है। कस्बे में सीवरेज ठेकेदार की चल रही मनमर्जी से ऐसा लग रहा है कि नगरपालिका ने सीवरेज ठेके के साथ-साथ लोगो को परेशान करने का ठेका भी इस कम्पनी को दिया है। मिली जानकारी के अनुसार ठेकेदार ने सीवरेज लाइन डालने के लिए पांच दिन पूर्व जेसीबी से मुरली मनोहर जी के मन्दिर से पक्की प्याऊ तक की सडक़ तुड़वादी सडक़ के साथ घरों की पानी लाइने भी टूट गई जिससे एक तरफ लोग पानी के लिए परेशान है, वहीं अपने हक का पानी व्यर्थ सडक़ पर बहते देख दु:खी भी है। यह कस्बे का मुख्य रास्ता होने व दिन रात वाहनों की रेल-पेल ऊपर से टुट्टी सडक़ उसमें जमा पानी पैदल आवागमन के लिए मुसीबत बन रहा है। विकास में कोई भी रोड़ा नहीं चाहता है लेकिन जब जिम्मेदार मनमानी पर उतर आए तो विरोध लाजमी है। कार्यो पर मॉनीटरिंग नही होने से कम्पनी के कारिंदे बेलगाम हो मनमर्जी से कार्य कर रहे है।
वार्ड वासियों ने दिया ज्ञापन – नगर पालिका प्रशासन की अनदेखी के कारण सीकर मार्ग पर आम रास्ते में जमा गंदे पानी से परेशान लोगों ने उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन देकर समस्या से निजात दिलाने की मांग की है। ब्राह्मण महासभा के तहसील अध्यक्ष सुभाष जोशी, भाजपा नेता रमेश नाहरिया, विक्रम भंडारी, भाजपा मंत्री प्रकाश पासोरिया, प्रदीप गुलाल, संदीप पंसारी, नगर पालिका के वार्ड संख्या 5 के पार्षद प्रतिनिधि ने लक्ष्मणगढ़ उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर समाधान की मांग की है। सुभाष जोशी ने बताया कि सीकर रोड़ पर कई दिनों से आम रास्ते पर गंदा पानी जमा हो रहा है। जिससे आम राहगीरों के साथ-साथ विद्यालय में आने जाने वाले मासुम बच्चों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button