ताजा खबरसीकर

प्रि-कैम्प की तैयारियों के लिए पटवारियों व ग्राम सेवक को पाबंद करें -सीकर जिला कलेक्टर

Avertisement

 जिला कलेक्टर नरेश कुमार ठकराल ने जिला स्तरीय अधिकारियों से कहा कि राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे राजस्व लोक अदालत न्याय आपके द्वार अभियान के अन्तर्गत आयोजित होने वाले शिविरों से पहले प्री कैम्प लगाना लगाना सुनिश्चित करें ताकि आमजन को शिविरों में होने वाले कार्यों में जमीन संबंधी प्रकरणों का निस्तारण , योजनाओं की जानकारी एवं मौके पर ही आवेदन भरवा कर लाभान्वित किया जा सके। शिविरों में अधिकाधिक संख्या लोग आकर संबंधित योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है।

वे शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में न्याय आपके द्वार अभियान में राजस्व अधिकारियों की प्रगति, मुख्यमंत्री हैल्प लाईन पर दर्ज प्रकरणों का निस्तारण एवं मुख्यमंत्री जनसंवाद में प्राप्त प्रकरणों के निस्तारण की समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी पंजीकृत प्रकरणों में तत्थात्मक जांच करने के बाद ही उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होंने सभी विकास अधिकारियों से कहा कि प्रि-कैम्प की तैयारियों के लिए पटवारियों व ग्राम सेवक को पाबंद कर प्रचार-प्रसार करें ताकि पात्र व्यक्ति शिविरों से लाभान्वित हो सके। न्याय आपके द्वार अभियान में पुराने प्रकरणों का निस्तारण, रास्तों के विवाद, रास्तों पर हो रहे अतिक्रमणों को हटाने एवं मौके पर लाभार्थियों को चिन्हित कर सूची तैयार कराना आदि कार्यो को प्राथमिकता से निस्तारण करने के निर्देश दिये, साथ ही सीमाज्ञान, पत्थरगडी,म्यूटेशन, सिवाईचक जमीन में आबादी विस्तार, खाता विभाजन, अपवादित प्रकरणों में अपेक्षित प्रगति नहीं हुई है जो चिन्ता की बात है उपखण्ड अधिकारी स्वयं शिविरों में जाकर मॉनिटरिंग करना सुनिश्चित करें ताकि व्यक्तिगत लाभार्थियों का गेप कम हो सके। जिला कलेक्टर ने राजस्व शिविरों में अब तक हुई प्रगति की विभागवार समीक्षा करते हुए विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों से प्रतिदिन कर प्रगति की समीक्षा व मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि संबंधित अधिकारी को अपने विभाग की सभी योजानाओं व कार्यों की जानकारी होना चाहिए ताकि शिविरों में लोगों को जानकारी दे सके। उन्होंने शिविरों में जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित करने के लिए कहा।

उन्होंने एसई जलदाय से कहा कि गांवों , शहरों में पेयजल की किल्लत को देखते हुए कार्य योजना के अनुरूप कार्य करना सुनिश्चित करें ताकि लोग पेयजल से वंचित नहीं रहे। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में 10 लीटर पानी प्रति व्यक्ति की वितरण व्यवस्था नहीं हो रही वहां टैंकरों से पेयजल वितरण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि जिले 400 से अधिक टैंकरों से गांवों व शहरी क्षेत्रों में पेयजल वितरण किया जा रहा है। जहां भी पानी की लकीज, टूटी हुई पाईप लाइन का दुरस्तीकरण, हैडपम्पों की मरम्मत, मोटरों को तत्काल मिस्ति्रयों से दुरस्त करावें। पेयजल वितरण व्यवस्था में संबंधित अभियन्ताओं को पाबंद करें कि अपने-अपने क्षेत्रों में किसी प्रकार की कोताही नहीं बरतें।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनुपम कायल ने बताया कि शिविरों में अब तक 146 ही पट्टे जारी किये गये जो लक्ष्य से कम हैं। उन्होंने ग्राम सेवक एवं प्रगति प्रसार अधिकारी को पाबंद किया कि वे प्रत्येक शिविर में जाकर सभी योजनाओं में पात्र व्यक्तियों को चिन्हित करें एवं परिसम्पती रजिस्टर संधारित करें।

अतिरिक्त जिला कलेक्टर जयप्रकाश ने आईटी के मनोज गर्वा को पाबंद किया कि भामाशाह नामांकन के लिए प्री कैम्पों का आयोजन कर सभी सूचना सहायकों को प्रत्येक शिविर में भिजवाना सुनिश्चित करें। इस कार्य के लिए ई-मित्रों को भी शिविरों में जोड़े।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button